अनेकार्थकता, बहुअर्थकता की परिभाषा क्या है अनेकार्थकता, बहुअर्थकता किसे कहते हैं | ambiguity definition in hindi ?

प्रश्न : अनेकार्थकता, बहुअर्थकता को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : अनेकार्थकता, बहुअर्थकता (ambiguity) की परिभाषा निम्नलिखित है –

किसी भाषिक प्रयोग (शब्द, वाक्य आदि) का एक से अधिक अर्थ होना। जैसे –
लिखित शब्द के स्तर पर – ‘मुझे सोना महंगा पड़ा‘ (सोना ‘धातु‘ या ‘क्रिया‘)।
पदबंध के स्तर पर – ‘नई कोठियाँ और दुकानें‘ (केवल कोठियाँ नई हैं, दुकानें नहीं या कोठियाँ और दुकानें सभी नई हैं)।
वाक्य के स्तर पर श्मंजु ने दौड़ते हुए बच्चे को देखा । (मंजू दौड़ रही थी और उसने बच्चे को देखा या बच्चा दौड़ रहा था और मंजु ने उसे देखा)
इस संकल्पना का प्रयोग अधिकांशतः साहित्यिक आलोचना या शैलीविज्ञान में होता है।

question : define the term ambiguity in hindi ?

answer : ऊपर अनेकार्थकता, बहुअर्थकता की अर्थात ambiguity in hindi की परिभाषा देखिये –

स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र static electric force

static electric force definition in hindi स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र स्थिर विद्युत बल के लिए कूलॉम का नियम लिखें।