कर्तृ कारक की परिभाषा क्या है ergative case in hindi definition meaning कर्तृ कारक किसे कहते हैं ?

प्रश्न : कर्तृ कारक को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : हिंदी में कर्तृ कारक (ergative case) की परिभाषा निम्नलिखित है –

कुछ भाषाओं में एक कारक। दो समानांतर रचनाओं में एक सकर्मक रचना का कर्म दूसरी अकर्मक रचना में कर्ता के रूप में प्रयुक्त होता है। ऐसी समानांतर- रचनाओं में सकर्मक रचना के कर्ता को कर्तृकारक कहते हैं। इसके विपरीत अकर्मक रचना के कर्ता को निरपेक्षिक कारक कहते हैं। जैसे – अंग्रेजी में –
1. श्रवीद कतपअमे जीम बंत ूमसस ंदक
2. ज्ीम बंत कतपअमे ूमसस.
में प्रथम वाक्य में श्श्रवीदश् कर्तृकारक है और दूसरे वाक्य में श्बंतश् निरपेक्षिक कारक है। किंतु हिंदी में ‘ने‘ परसर्ग वाले वाक्य कर्तृकारक हैं। जैसे – ‘मोहन ने गेंद घुमाई‘ में ‘मोहन‘ कर्तृकारक है और ‘गेंद घूम गई‘ में ‘गेंद‘ निरपेक्षिक कारक है।

question : what is ergative case in hindi define the term ?

answer : ergative case की हिंदी में डेफिनिशन अर्थात कर्तृ कारक की परिभाषा ऊपर देखिये –

स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र static electric force

static electric force definition in hindi स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र स्थिर विद्युत बल के लिए कूलॉम का नियम लिखें।