रूप की परिभाषा क्या है form in hindi definition meaning रूप किसे कहते हैं ?

प्रश्न : रूप को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : हिंदी में रूप (form) की परिभाषा निम्नलिखित है –

1. विभिन्न व्यवहार-क्षेत्रों में ‘रूप‘ शब्द अलग-अलग अर्थों में प्रयुक्त होता है। सामान्य अर्थ में ‘रूप‘ शब्द का प्रयोग ‘अर्थ‘ के विरोध में किया जाता है। अर्थ को भाषिक इकाइयों में प्रकट करने वाला तत्व ‘रूप‘ कहलाता है। इस अर्थ में भाषा के ध्वन्यात्मक तथा व्याकरणिक लक्षण ‘रूप‘ हैं। ‘भाषायी-रूप‘ और ‘व्याकरणिक रूप‘ पदों का प्रयोग इसी संदर्भ में होता है। इसी से मिलते-जुलते एक अन्य संदर्भ में वाक्यों, रूपिमों, शब्दों, संज्ञाओं आदि को ‘भाषायी रूप‘ कहा जाता है। यहाँ इसका विरोध ‘प्रकार्य‘ से है। ‘भाषायी रूप‘ सरीखे ‘संज्ञा-पदबंध‘ वाक्य में कर्ता, कर्म, पूरक के रूप में जो भूमिका निभाते हैं उन्हें प्रकार्य कहा जाता है। इसी प्रकार व्याकरणिक कोटियों के संदर्भ में भी ‘रूप‘ शब्द का प्रयोग किया जाता है, तथा समान-धर्मा व्याकरणिक लक्षणों को व्यक्त करने वाले रूपों के समुच्चय को ‘रूप-वर्ग‘ कहा जाता है। जैसे – ‘पीना‘, ‘बैठना‘, ‘देखना‘ क्रियाओं के वर्ग को ‘क्रिया-रूप वर्ग‘ कहा जाता है क्योंकि ‘रूप-निर्माण प्रक्रिया‘ और ‘वाक्यात्मक वितरण‘ की दृष्टि से इनके लक्षण समान हैं।
2. किसी भी भाषायी इकाई में प्रत्यय या उपसर्ग आदि के योग से बनने वाले शब्दों को भी उस शब्द का रूप कहा जाता है। इस प्रकार प्राप्त ‘रूपों के समुच्चय‘ को ‘रूपावली‘ कहा जाता है। जैसे -हिंदी में ‘चल‘, ‘चलना‘, ‘चला‘, ‘चलें‘, ‘चलो‘, ‘चलूं‘, ‘चलेगा‘ आदि ‘चल‘ शब्द के रूप हैं। संस्कृत में ‘गच्छति‘ ‘गच्छतः‘, ‘गच्छन्ति‘ आदि ‘गम्‘ धातु के रूप है।
3. ‘रूप‘ शब्द का प्रयोग ‘वस्तु‘ के विरोध में भी होता है (जहाँ ‘रूप‘ से तात्पर्य लिखित या उच्चरित वाक् से संपूर्ण भाषायी व्यवस्था या संरचना से होता है)। इसके विपरीत ‘वस्तु‘ से तात्पर्य ध्वनि या लिपि के माध्यम से भाषा की भौतिक अभिव्यक्ति से है।
4. ‘हैलिडे‘ ने अपने व्यवस्थापरक सिद्धांत में भाषा के तीन स्वतंत्र स्तर स्वीकार किए हैं – रूप, वस्तु और प्रकरण। इसमें ‘रूप‘ से तात्पर्य भाषा की व्याकरणिक और शाब्दिक व्यवस्था से है।
5. तर्कशास्त्र और गणित के संदर्भ में भाषिक सिद्धांत के वे आधारभूत लक्षण, जो सूत्रबद्ध रूप से प्रस्तुत किए जाते हैं सिद्धांत के ‘रूप‘ कहलाते हैं। प्रजनक व्याकरण में ‘रूपपरक सार्वभौम‘ की संकल्पना की गई है । इसी प्रकार ‘रूपपरक अर्थविज्ञान‘ से तात्पर्य तार्किक व्यवस्था के विश्लेषण से है।

question : what is form in hindi define the term ?

answer : form की हिंदी में डेफिनिशन अर्थात रूप की परिभाषा ऊपर देखिये –

स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र static electric force

static electric force definition in hindi स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र स्थिर विद्युत बल के लिए कूलॉम का नियम लिखें।