सोपाधिक परिवर्त, आश्रित परिवर्त की परिभाषा क्या है सोपाधिक परिवर्त, आश्रित परिवर्त किसे कहते हैं | conditional variant definition in hindi ?

प्रश्न : सोपाधिक परिवर्त, आश्रित परिवर्त को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : सोपाधिक परिवर्त, आश्रित परिवर्त (conditional variant) की परिभाषा निम्नलिखित है –

किसी भाषिक इकाई का वह रूप जो भाषिक या सामाजिक परिवेश से नियंत्रित हो या अनुबंधित। इस प्रकार का अनुबंधन (बवदकपजपवदपदह) स्वनिम के उपस्वनों के निर्धारण पर भी लागू होता है और उससे बड़ी भाषिक इकाइयों पर भी। अंग्रेजी की रूपप्रक्रिया में रूपस्वनिमात्मक या संधि नियमों के अनुसार स्वरों से शुरू होने वाले संज्ञा शब्दों से पहले उपपद {ं} रूपिम ख्ंद, हो जाता है। इसी प्रकार समाजभाषाविज्ञान आधारित प्रतिबंधों के कारण ‘पधारना‘ क्रिया के व्याकरणिक रूप केवल ‘आप‘ या ‘वे‘ सर्वनामों के साथ ही आ सकते हैं, अन्य सर्वनामों (मैं, तू, तुम, हम या वह) के साथ नहीं। इसी तरह ‘आपका दौलतखाना‘ ‘मेरा गरीबखाना‘ जैसे प्रयोग भी उपर्युक्त स्थिति से ही नियंत्रित होते हैं।

question : define the term conditional variant in hindi ?

answer : ऊपर सोपाधिक परिवर्त, आश्रित परिवर्त की अर्थात conditional variant in hindi की परिभाषा देखिये –

स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र static electric force

static electric force definition in hindi स्थिर विद्युत बल किसे कहते हैं , स्थिर वैद्युतिकी बल क्या है परिभाषा , सूत्र स्थिर विद्युत बल के लिए कूलॉम का नियम लिखें।